M  U  S  K U  R  A  A  T  E  R  A  H  O

पर्यटन का अर्थ है। यात्रा करना। घूमना-फिरना 

Powered By:
Powered By:

पर्यटन का अर्थ है। यात्रा करना। घूमना-फिरना हर जगह, लोगों के रहन-सहन, बोलचाल, लोगों की सोच आदि को दर्शाता है। जब कोई व्यक्ति कुछ दिनों की छुट्टी लेकर अपने परिवार और दोस्तों के साथ घूमने जाता है। तो उसका मन खुशी से भरा रहता है। वह मानसिक तनाव और थकान को भूल जाता है। घूमने फिरने से लोगों का मन प्रसन्न रहता है। देश के राज्यों के भ्रमण से अनेक स्थानों के ऐतिहासिक एवं भौगोलिक स्तर की जानकारी मिलती है। हम जहां भी घूमने जाते हैं, हम अपनी यादें लेकर जाते हैं।

 

Powered By:
Powered By:

जब हम देश-विदेश में घूमते हैं। तो हमारे सामने कई तरह की जानकारियां आती हैं। आइए किताबों के माध्यम से देश-विदेश की कई लोकप्रिय जगहों के बारे में पढ़ते हैं। लेकिन जब हम खुद इन जगहों पर घूमने जाते हैं। तो एक अलग ही अनुभव होता है। हम उस जगह से जुड़ी बारीक चीजों को अच्छे से जान और समझ पाते हैं। वहां रहने वाले लोगों के रहन-सहन की बारीकी से जानकारी ली। यह सब कारण है जिसने पर्यटन के महत्व को बढ़ा दिया है। हमें विदेशों की सभ्यता और संस्कृति की असंख्य जानकारी मिलती है। यह सब तभी संभव है जब लोग वहां घूमने जाएं।

Powered By:
Powered By:

जो व्यक्ति देश या विदेश की अधिक यात्रा करता है। उसका ज्ञान भी बढ़ता है। उनका अनुभव किताबी ज्ञान से कहीं अधिक है। प्राचीन काल में जब सभ्यता का नामोनिशान नहीं था। तब आदिम मानव भी एक स्थान पर नहीं रहते थे। वह इधर-उधर घूमता रहता था। और इसी तरह उसने कई आविष्कार किए। आज परिवहन की सुविधाओं में विकास हुआ है। हम बस, कार, हवाईजहाज, रेलगाड़ी आदि की सहायता से कम समय में गंतव्य स्थान पर पहुँच जाते हैं।

Powered By:
Powered By:

वातानुकूलित उपकरणों के आविष्कार के बाद मनुष्य को यात्रा करने में कोई परेशानी नहीं होती है। मनुष्य के मनोरंजन और ज्ञान वृद्धि के लिए घूमना फिरना आवश्यक है। इससे हमारे मन में मौजूद अंधविश्वास और शंकाएं दूर होती हैं। हम अलग-अलग लोगों को जानते हैं और नई जगहों को जानते हैं। जब हम दुनिया के अलग-अलग देशों की यात्रा करते हैं तो ऐसा लगता है कि सारा संसार ही अपना है। वह अपने परिवार और मित्रों के साथ विभिन्न स्थानों की यात्रा करता है और उस स्थान से संबंधित विषयों पर चर्चा करता है। वहां के लोगों की संस्कृति को जानने की उत्सुकता और भी बढ़ जाती है।

Powered By:

आज के समय में पर्यटन एक बड़ा व्यवसाय बन गया है। आजकल देश के कई राज्यों में लोगों के घूमने के लिए पर्यटन कार्यालय खुल गए हैं। वहां ट्रेन या हवाई जहाज के टिकट से लेकर निर्धारित स्थान पर आने-जाने वाले लोगों के लिए होटल बुकिंग आदि की व्यवस्था पर्यटन कार्यालय द्वारा की जाती है। पर्यटकों को घूमने में मजा आता है और कई लोगों को इससे रोजगार भी मिलता है।

Powered By:

देश के कई राज्यों में जहां प्रकृति और पहाड़ों के खूबसूरत नजारे दिखाई देते हैं, वहां ज्यादातर टूरिज्म बिजनेस यानी पर्यटन दफ्तरों ने अपनी जगह बना ली है। पर्यटन उद्योग बहुत अच्छा कर रहा है। उन्हें (पर्यटन कार्यालय, दुकान आदि) पर्यटकों को अपने अनुसार आरामदायक यात्रा उपलब्ध कराने के लिए बहुत पैसा मिलता है। पर्यटकों के कारण ही इस पर्यटन स्थल का विकास होता है। जितने अधिक पर्यटक होंगे, पर्यटन स्थलों का महत्व उतना ही अधिक होगा।

पर्यटन कई प्रकार के होते हैं। कुछ स्थान पहाड़ों के लिए प्रसिद्ध हैं, कुछ स्थान अपने कभी खत्म होने वाले समुद्र के लिए, कुछ अपने जंगलों के लिए। कुछ स्थान ऐसे भी हैं जो धार्मिक विशेषताओं से परिपूर्ण हैं, ऐसे स्थान अपने तीर्थों के लिए प्रसिद्ध हैं, जैसे हरिद्वार, केदारनाथ, बद्रीनाथ आदि।

कुछ स्थान जैसे लाल किला, विक्टोरिया मेमोरियल, ताजमहल आदि। ऐसे अनगिनत स्थल हैं जिनका अपना ऐतिहासिक महत्व है। सभी जगहों का अलग-अलग महत्व है और लोग अपनी रुचि के अनुसार वहां घूमने जाते हैं। पर्यटन के अनगिनत फायदे हैं। हमारे देश की खूबसूरती देखने के लिए देश विदेश से बहुत से लोग आते हैं। इससे पर्यटन व्यवसाय को काफी लाभ मिलता है।

हमारे देश को पर्यटन व्यवसाय से विदेशी मुद्रा प्राप्त होती है, जो देश के लिए बहुत लाभदायक है। हमारे देश की खूबसूरती को देखने के लिए हर साल विदेशों से काफी लोग आते हैं। वह कई होटलों में ठहरता है और कई दुकानों से खरीदारी करता है। इससे राज्यों के पर्यटन कारोबार को काफी फायदा होता है। 2010 के बाद भारतीय पर्यटन उद्योग को बहुत फायदा हुआ है। लोग पर्यटन स्थलों पर जाकर फोटोग्राफी और वीडियो करते हैं। लोग जहां भी घूमने जाते हैं, उस जगह से जुड़े पलों को कैमरे में कैद कर लेते हैं।

Powered By: